Innovations

स्वस्थ छात्र, बेहतर शिक्षार्थी

स्वस्थ छात्र, बेहतर शिक्षार्थी

पुरानी कहावत है कि स्वस्थ तन में स्वस्थ मन का वास होता है। वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित भी है कि पौष्टिक भोजन का संबंध बौद्धिक विकास से जुड़ा है। यदि छात्रों में विटामिन या अन्य पोषक तत्वों की कमी रहती है तो इसका प्रभाव उनके शारीरिक ही नहीं, बल्कि सीखने, समझने की क्षमता और एकाग्रता पर भी पड़ता है। ‘बेहतर पोषण, बेहतर शिक्षा’ नवाचार से छात्रों में पौष्टिक भोजन के महत्व, भोजन संबंधी स्वच्छ- स्वस्थ आदतें विकसित की जाती हैं।

Creation of enquiry-led self-learning environment, Improve learning outcomes and decrease learning gaps, Increase involvement of parents in their child’s education
स्व-अध्ययन नवाचार

स्व-अध्ययन नवाचार

स्व-अध्ययन एक आवश्यक जीवन कौशल है जिसका लाभ उन्हें शिक्षा ही नहीं, अपितु जीवन के किसी भी क्षेत्र में मिलता है। स्व अध्ययन छात्र को स्वावलंबी बनाता है और उसके भीतर स्वयं शिक्षा ग्रहण करने की इच्छा को जगाता है। स्व अध्ययन नवाचार का मूल उद्देश्य भी यह है कि छात्र अपने वास्तविक कौशल और क्षमता को पहचाने, जिज्ञासु बने और स्वयं पढ़ने के प्रेरित हो।

Improve learning outcomes and decrease learning gaps, Improve motivation levels among teachers, Improve student enrolment/attendance and reduce drop-outs rate
नैतिक मूल्य

नैतिक मूल्य

शिक्षा का उद्देश्य अर्जित किए गए ज्ञान का सदुपयोग करना है। छात्रों को भले ही किसी विषय के बारे में सारी जानकारी हो, लेकिन क्या वह अपने और समाज के हित में सही और गलत में अंतर करने में सक्षम है? नैतिक मूल्य नवाचार के माध्यम से शिक्षक छात्रों का चरित्र-निर्माण करते हैं। ताकि वह आगे चलकर अच्छे नागरिक और विचारक बनें।

Inculcate the deeper human values in teaching and learning
बेहतर उपस्थिति के नए प्रयोग

बेहतर उपस्थिति के नए प्रयोग

यह गतिविधि न केवल विद्यार्थियों को विद्यालय में जाने के लिए प्रोत्साहित करने के तरीकों को प्रस्तुत करती है, बल्कि उन्हें लगातार समर्थन प्रदान करने के लिए सहायता भी प्रदान करती है ताकि शिक्षा से उनका ध्यान विचलित ना हो ।

Improve learning outcomes and decrease learning gaps, Improve student enrolment/attendance and reduce drop-outs rate
भारत एक, भाषा अनेक

भारत एक, भाषा अनेक

अनेक भाषाओं , बोलियों और शैलियों के कारण ग्रामीण भारत में बोली और भाषा में अंतर के कारण छात्र और शिक्षक एक-दूसरे की बात समझ नहीं पाते। जिसका दुष्प्रभाव छात्र और शिक्षक दोनों को उठाना पड़ता है। भाषा की भूल-भूलैया से बाहर निकलने के लिए शिक्षकों ने ‘भारत एक, भाषा अनेक’ नवाचार को विकसित किया है।

Creation of enquiry-led self-learning environment, Improve learning outcomes and decrease learning gaps, Improve motivation levels among teachers
बाल संसद

बाल संसद

पाठ्यक्रम के साथ-साथ, व्यक्तिगत कार्यकुशलता को निखारना भी शिक्षा के उद्देश्यों में से एक है। ‘बाल संसद’ नवाचार विद्यार्थियों में प्रबंधन कौशल और नेतृत्व क्षमता का विकास करते हैं। यह नवाचार विद्यालय में अनुशासन, शिक्षा की गुणवत्ता, छात्रों में स्वच्छता सुनिश्चित करने का प्रभावशाली माध्यम है।

Improve learning outcomes and decrease learning gaps, School Management
खेल-खेल में शिक्षा

खेल-खेल में शिक्षा

अक्सर देखा गया है कि छात्र कठिन विषय जैसे गणित और विज्ञान से घबरा जाते हैं। यदि इन विषयों को खेल के माध्यम से सिखाया जाए , तो छात्र इन्हें रुचिपूर्ण और सरल तरीके से सीखते हैं।

Creation of enquiry-led self-learning environment, Improve student enrolment/attendance and reduce drop-outs rate, Inclusion of children with special needs in mainstream schools
कला शिल्प से सर्वांगीण विकास

कला शिल्प से सर्वांगीण विकास

जैसे-जैसे बच्चा अपने परिवेश और विद्यालय में सीखने-समझने लगता है, उसके मन में अलग- अलग जिज्ञासाएं उठने लगती हैं। इन जिज्ञासाओं को सही दिशा देने और छात्रों में सीखने की इच्छा को प्रबल बनाने का सबसे प्रभावशाली माध्यम है ‘खेल-खेल में शिक्षा’ नवाचार। इसके साथ ही इस नवाचार से आत्म-सम्मान और अनुशासन का संचार होता है, जिससे सर्वांगीण विकास आश्वस्त होता है।

Improve learning outcomes and decrease learning gaps, Improve motivation levels among teachers, Inclusion of children with special needs in mainstream schools
अभिनव शिक्षण तकनीक

अभिनव शिक्षण तकनीक

यद्यपि सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को सरकार सुविधाएँ और प्रोत्साहन देती है, लेकिन फिर भी देखा गया है कि विद्यार्थियों के मन में शिक्षा को लेकर उदासीनता बनी रहती है। अभिनव शिक्षण तकनीक नवाचार के माध्यम से छात्रों की रुचि न सिर्फ शिक्षा में बढ़ी है, बल्कि विद्यालय में उपस्थिति दर में भी सुधार आया है।

Improve learning outcomes and decrease learning gaps, Improve motivation levels among teachers, Improve student enrolment/attendance and reduce drop-outs rate
दैनिक बाल अखबार

दैनिक बाल अखबार

विचारों की अभिव्यक्ति करना किसी भी छात्र के लिए अति महत्वपूर्ण है। विद्यालय का साप्ताहिक या मासिक समाचार-पत्र छात्रों की कल्पनाशीलता को विकसित करता है और उन्हें लेखन कौशल, सामर्थ्य और रूचि से अवगत कराता है।

Self-learning environment